Cadbury Chocolate Success Story In Hindi... सफलता की कहानी...

Cadbury Chocolate Success Story In Hindi  

सफलता की कहानी... 

Cadbury Chocolate Success Story in Hindi

दोस्तों, आप सबने देखा होगा की बच्चे ही नहीं बल्कि बहुत जगह बड़े भी दूध, सब्जी और फल खाने से इंकार करते है, लेकिन अगर उनके सामने वही चॉकलेट दे दी जाये तो शायद ही कोई इसे मना करेगा.  

बाजार में आपको बहुत सरे चॉकलेट मिल जायेंगे लेकिन अगर हम बात करे कैडबरी की...तो उसक जैसा कोई नहीं. इसके स्वाद के साथ साथ इसकी कहानी भी काफी दिलचस्प है तो दोस्तों कैडबरी के इतिहास के बारे में बहुत ही काम लोग जानते है.
  
कैडबरी (Cadbury) की शुरुवात जॉन कैडबरी ने की थी, जॉन कैडबरी का जन्म १२ अगस्त १८०१ में हुआ था. दोस्तों, कहानी की शुरुवात होती है जॉन कैडबरी नाम के एक बच्चे से, जिसका जन्म १२ अगस्त १८०१ को ब्रिटेन के बिर्मिंघम (BIRMINGHAM) में हुआ था. जॉन एक कुअकर (Quaker) धर्म के थे और इस धर्म के लोगो की अपनी अलग ही मान्यताये थी. इस धर्म के लोग किसी भी चर्च या किसी भी अन्य धार्मिक संस्था से नहीं जुड़े हुआ थे.

 ईश्वर और अपने बीच उन्हें किसी की भी मौजूदगी पसंद नहीं थी, अपनी अलग मान्यता होने की वजह से उन्हें समाज में अलग नजरिये से देखा जाता था. नहीं उन्हे किसी अच्छे स्कूल में दाखिला मिलता और नहीं उन्हें कोई अच्छी नौकरी यहाँ तक की वो सेना में भी नहीं जा सकते थे. उसी कारण अपने धर्म की स्कूल में पढाई करने के बाद जॉन कैडबरी अपने पॉकेट मनी के  लिए एक कॉफी शॉप पर काम करने लगे. 

जॉन शराब और मांसाहार (Drink & & Non-veg) के विरोधी थे. १८२४ में उन्होंने शराब पिने वालो को स्वस्थ के लिए एक हितकारक ड्रिंक उपलब्ध करने की सोच के साथ बिर्मिंघम (BIRMINGHAM) इलाके में दो कमरों यहाँ उन्होंने चाय-कॉफी के साथ कोका और चॉकलेट ड्रिंक की भी शुरुवात की थी, और धीरे धीरे उनकी दुकान चलने लगी, लेकिन उसमे एक दिलचस्प बात ये थी की चाय और कॉफी से ज्यादा मांग उनके चॉकलेट ड्रिंक की थी. इसके बाद उन्होंने चॉकलेट ड्रिंक पर ही अपना ध्यान केंद्रित किया.  

बाद में सिर्फ १५ साल के अंदर ही जॉन कैडबरी (Cadbury) अपनी खास तरह की चॉकलेट और ड्रिंक के कारन पुरे ब्रिटेन में मशहूर हो चुके थे . तभी उनके भाई बेंजामिन भी उनके साथ बिज़नेस में जुड़ गए थे और उसके बाद सब लोग उन्हें कैडबरी ब्रदर्स (Cadbury Brothers) के नाम से जानने लगे थे. और फिर दोनों ने मिलकर १८३१ में ब्रिज स्ट्रीट (BRIDGE STREET) में एक बहुत बड़ा कारखाना खोला   और साल १८४२ तक आते आते जॉन की कंपनी कैडबरी (Cadbury) लगभग १६ तरह की चॉकलेट ड्रिंक बनाने लग गई थी. १८५० में जॉन ने अपना बिज़नेस अपने बेटे रिचर्ड और जॉर्ज के हाथ सोप दिया. रिचर्ड और जॉर्ज ने नै तकनीक का उपयोग करके आगे ले गए और नयी ऊंचाई पर पहुंचाया और कैडबरी (Cadbury) को दुनिया की नयी सबकी पसंदीदा चॉकलेट बनाया. 


१८७५ में स्वित्ज़रलैंड (Switzerland) के कारोबारी डेनियल पीटर (Daniel Peter) ने दुनिया की पहली मिल्क बार चॉकलेट बनाई, इसके कारण कैडबरी ब्रदर्स को कड़ी टक्कर मिली. १८९९ में रिचर्ड की मौत के बाद जॉर्ज ने भी कारोबार अगली पिहि को सोपने की तैयारी शुरू कर दी. पर रिटायरमेंट से पहले १९०५ में जॉर्ज ने कैडबरी की की मशहूर डेरी मिल्क (Dairy Milk) चॉकलेट का अविष्कार किया. 

इस कैडबरी कंपनी की शुरुवात अकेले जॉन कैडबरी ने की थी, लेकिन आज की तारीख में कैडबरी के ५० से ज्यादा देशों में में ८०००० से भी ज्यादा कर्मचारी काम करते है, कैडबरी की कुल संपत्ति १० हजार करोड़ से ज्यादा है.

दोस्तों, अगर सोच, सपने और कुछ करने की चाहत अगर हो तो सचमे इंसान क्या कुछ नहीं कर सकता. अगर आपने भी कोई सपना देखा हो तो उसे पूरा करने के लिए पूरी मेहनत और लगन से कोशिश कीजिये, एक दिन आपको सफलता जरूर मिलेगी. 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ